IND vs ENG: अपने 100वें टेस्ट से पहले इंग्लैंड के बल्लेबाज ने ग्राउंड कर्मियों को बधाई दी और दिल की बात कही

0
5
IND vs ENG: अपने 100वें टेस्ट से पहले इंग्लैंड के बल्लेबाज ने ग्राउंड कर्मियों को बधाई दी और दिल की बात कही
AsportsN। Image Credit: Social Media

भारत इस समय इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेल रहा है। इस सीरीज में दोनों पक्षों ने चार मैच खेले हैं। भारतीय टीम अब 3-1 से आगे है। इंग्लैंड के खिलाफ भारत की सीरीज का पांचवां और आखिरी मैच अब धर्मशाला में खेला जाएगा। यह मैच इंग्लैंड के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी जॉनी बेयरस्टो के लिए अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण होगा। दरअसल, यह उनका 100वां टेस्ट मैच होगा। इस मैच से पहले बेयरस्टो ने धर्मशाला के ग्राउंड कर्मियों की सराहना की।

भारत और इंग्लैंड के बीच पांचवां और आखिरी मैच धर्मशाला के उसी मैदान पर होगा जहां रणजी ट्रॉफी मैच खेले गए थे। जॉनी बेयरस्टो ने कहा, ”यह पिछले महीने रणजी ट्रॉफी में इस्तेमाल की गई पिच है।” ग्राउंड टीम ने बेहतरीन काम किया है। परिस्थितियों को देखते हुए ग्राउंड वर्करों ने अच्छा प्रदर्शन किया। ग्राउंड क्रू ने आउटफील्ड में बेहतरीन काम किया है। यह क्षेत्र दुनिया के सबसे खूबसूरत इलाकों में से एक है।

बेयरस्टो धर्मशाला के सुरम्य मैदान पर अपना 100वां टेस्ट खेलने को लेकर रोमांचित हैं। उनके बयानों से साफ है कि वह इस मैच में अपनी टीम के लिए बेहतरीन बल्लेबाजी करना चाहते हैं। जॉनी बेयरस्टो का बल्ला इस सीरीज में ज्यादा प्रभावी नहीं रहा है। इस सीरीज में उन्हें अभी 50 का आंकड़ा छूना बाकी है। सीरीज में उनका सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजी स्कोर 38 रन रहा है। उन्होंने यह रन रांची टेस्ट की पहली पारी में बनाया था।

अपने खराब रिकॉर्ड के बावजूद बेयरस्टो को धर्मशाला की पिच पर यादगार पारी खेलने की उम्मीद है। बेयरस्टो ने 99 टेस्ट मैचों में 5974 रन बनाए हैं, जिसमें 12 शतक और 26 अर्धशतक शामिल हैं।

Saurabh Gupta
Saurabh Gupta is a Blogger and content creator who works for AsportsN.com and Karekaise.in . Saurabh believes that content creation is best way to express your thoughts and it helps a lot of people to get some useful information. In addition to blogging and content creation, he manages many Facebook page. He has been working for last 2 years in this field. He is graduating from Dr. Harisingh Gour central university Sagar Madhya Pradesh India.