भारत Vs इंग्लैंड: टीम इंडिया 112 साल पुराने टेस्ट रिकॉर्ड को तोड़ने की कोशिश करेगी, जिससे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में मच जाएगी हलचल 

0
71
भारत Vs इंग्लैंड: टीम इंडिया 112 साल पुराने टेस्ट रिकॉर्ड को तोड़ने की कोशिश करेगी, जिससे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में मच जाएगी हलचल 
AsportsN। Image Credit: Social Media

टीम इंडिया का टेस्ट रिकॉर्ड: भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में चार मैच खेले हैं, जिनमें से तीन जीतकर वह सीरीज में 3-1 से आगे है। अब फाइनल मुकाबला धर्मशाला में खेला जाएगा। इस पूरी सीरीज में टीम इंडिया ने इंग्लैंड की बेसबॉल रणनीति को ध्वस्त कर इंग्लैंड पर गजब का दबदबा दिखाया है। रोहित शर्मा के नेतृत्व में टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया, खासकर युवा खिलाड़ियों ने। टीम के युवा सलामी बल्लेबाज यशस्वी जयसवाल ने दो दोहरे शतक लगाए, जबकि शुबमन गिल ने शानदार बल्लेबाजी की और ध्रुव जुरेल के साथ चौथे टेस्ट मैच में भारत को जीत दिलाई।

टूटेगा 112 साल पुराना रिकॉर्ड

सीरीज जीतने के बाद टीम इंडिया की नजर अब इंग्लैंड (IND vs ENG) के खिलाफ धर्मशाला में होने वाले आखिरी टेस्ट मैच को जीतने पर है। जी हां, टीम इंडिया के पास एक और मौका है और ये रिकॉर्ड के लिए है। 112 साल बाद इंग्लैंड के खिलाफ उस रिकॉर्ड को तोड़ने का रिकॉर्ड सिर्फ इंग्लैंड के नाम है। हां, अगर भारत धर्मशाला में इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी टेस्ट जीतता है (टीम इंडिया पांचवें टेस्ट में रिकॉर्ड तोड़ देगी), तो वह 112 साल में पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला में ऐसा करने वाली दूसरी टीम बन जाएगी। आपने पहला मुक़ाबला हारने के बाद बाद के सभी चार मुक़ाबले जीते। इससे पहले, इंग्लैंड ने यह उपलब्धि 1912 में हासिल की थी। टेस्ट इतिहास में ऐसा तीन बार हुआ है, ऑस्ट्रेलिया ने 1897-1898 और 1901-1902 में दो बार और इंग्लैंड ने 1912 में एक बार ऐसा किया था।

यह उपलब्धि तीन बार हासिल की जा चुकी है

टीम  वर्ष
ऑस्ट्रेलिया 1897-1898
ऑस्ट्रेलिया 1901-1902
इंग्लैंड 1912

चौथे टेस्ट में उन्होंने इंग्लैंड को चौथे दिन ही पांच विकेट से हराकर लगातार 17वीं सीरीज जीत ली। 192 रन के विजयी लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने बिना विकेट खोए कल के स्कोर 40 रन से आगे खेलना शुरू किया। ओपनर यशस्वी जयसवाल (44 गेंदों में 37 रन) और कप्तान रोहित शर्मा (81 गेंदों में 55 रन) ने पहले विकेट के लिए 84 रन बनाए। रजत पाटीदार और रवींद्र जड़ेजा भी अपने दोनों विकेट सस्ते में गंवाने के बाद आउट हो गए, लेकिन शुबमन गिल (नाबाद 52) और ध्रुव जुरेल (नाबाद 39) ने 72 रन की साझेदारी करके टीम को जीत दिला दी।