IPL 2024: हार के असली विलेन मिले, विदेशी खिलाड़ियों ने आरसीबी की नौका तोड़ दी! कोहली अकेले सीजीएफ पर भारी हैं

0
471

IPL 2024 आरसीबी के लिए काफी खराब रहा है। बेंगलुरू ने पहले 5 मैचों में से 4 हारे हैं। ऐसे में अंक तालिका में आरसीबी की स्थिति भी काफी खराब है। बेंगलुरु 5 मैचों में से एक मैच जीतने के बाद 8वें स्थान पर है। इस IPL सीजन में विराट कोहली का बल्ला बहुत अच्छा चमक रहा है, लेकिन आरसीबी के लिए सभी विदेशी खिलाड़ियों का प्रदर्शन बहुत खराब रहा है। आज हम आपको विराट कोहली के आंकड़ों की तुलना आरसीबी के अन्य विदेशी खिलाड़ियों से करके बताने जा रहे हैं, ये आंकड़े आपको चौंका सकते हैं। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि अकेले विराट कोहली ने ‘सीजीएफ’ को पीछे छोड़ दिया है।

फाफ और ग्लेन पूरी तरह फ्लॉप हैं।

आरसीबी के अनुभवी बल्लेबाज विराट कोहली ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ शतक लगाया है। इस मैच में कोहली ने सिर्फ 72 गेंदों में 113 रनों की पारी खेली है। इस दौरान उनके बल्ले से 12 चौके और 4 शानदार छक्के लगे। इसके साथ ही कोहली ने ऑरेंज कैप पर अपनी पकड़ मजबूत कर ली है। कोहली ऑरेंज कैप की दौड़ में आगे चल रहे हैं। विराट ने इस सीजन में अब तक कुल 5 मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने अपने बल्ले से 316 रन बनाए हैं। कोहली के अलावा आरसीबी के अन्य बल्लेबाजों के आंकड़े देखकर आप हैरान रह जाएंगे। दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने आरसीबी के लिए खेलते हुए 5 मैचों में 109 रन बनाए हैं। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल का बल्ला भी इस सीजन में पूरी तरह से शांत है। मैक्सवेल ने अभी तक 5 मैचों में सिर्फ 32 रन बनाए हैं।

हरा रंग भी दिखाई नहीं दे रहा है

ऑस्ट्रेलिया के एक अन्य ऑलराउंडर खिलाड़ी कैमरन ग्रीन भी अच्छी फॉर्म में नहीं हैं। ग्रीन ने सभी 5 मैच भी खेले हैं, जिसमें उनके बल्ले से केवल 68 रन आए हैं। इन तीनों विदेशी खिलाड़ियों ने मिलकर IPL 2024 में खेले गए कुल 5 मैचों में 209 रन बनाए हैं और अकेले कोहली ने इस सीजन में 316 रन बनाए हैं। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि कोहली कितने शानदार फॉर्म में हैं। किंग कोहली ने अकेले सीजीएफ (कैमरून ग्रीन, ग्लेन मैक्सवेल और फाफ डु प्लेसिस) को पीछे छोड़ दिया है।

पाटिदार ने गंवाए 5 मौके

इसके अलावा रजत पटिदार को भी आरसीबी में सभी 5 मैच खेलने का मौका मिला है। पदीतर भी इस सीजन में पूरी तरह से फ्लॉप साबित हो रहा है। अब तक रजत के बल्ले से 5 मैचों में केवल 50 रन बने हैं। भले ही इन चार बल्लेबाजों के रन जोड़े जाएं, केवल 259 रन हैं, अकेले कोहली के पास 316 रन हैं। अगर यह जारी रहा तो आरसीबी के लिए वापसी करना मुश्किल होगा। बेंगलुरू की टीम अकेले विराट कोहली पर निर्भर नहीं रह सकती।