IPL 2024: ऋतुराज गायकवाड़ के टॉस जीतने पर यूजर हुआ फंस, लोगों ने भेजा QR कोड

0
542

चेन्नई सुपर किंग्स और गुजरात टाइटंस के बीच आईपीएल के 59वें मैच में सीएसके के कप्तान रुतुराज गायकवाड़ ने आखिरकार टॉस जीत लिया। गायकवाड़ लगातार टॉस हार रहे थे। इससे पहले उन्होंने 11 में से केवल एक टॉस जीता था। जिसके कारण वह खुद बहुत परेशान थे। गायकवाड़ ने खुद कहा था कि उन्हें नहीं पता कि ऐसा क्यों हो रहा है। इस पर ड्रेसिंग रूम में भी चर्चा होती है।

गायकवाड़ को टॉस हारने के बाद सोशल मीडिया पर भी लगातार ट्रोल किया जा रहा था। मैच से कुछ घंटे पहले भी कई यूजर्स ने टॉस जीतने पर लोगों को पैसे देने की बात कही थी, लेकिन शाम को जब रुतुराज गायकवाड़ ने टॉस जीता तो एक यूजर बुरी तरह फंस गया।

टॉस जीतने के बाद उपयोगकर्ताओं ने खिंचाई की
ऋतुराज गायकवाड़ की एक तस्वीर पोस्ट करते हुए एक यूजर ने लिखा-अगर रुतुराज गायकवाड़ आज रात टॉस जीत जाते हैं, तो मैं इस ट्वीट को पसंद करने वाले हर व्यक्ति को 500 रुपये दूंगा। इस पोस्ट के एक लाख से अधिक लोगों तक पहुंचने के बाद जब रुतुराज ने टॉस जीता तो लोगों ने उन्हें QR कोड भेजना शुरू कर दिया। लोगों ने कहा कि सीएसके ने टॉस जीत लिया है, अब हमारे पैसे दीजिए। हालाँकि, कई उपयोगकर्ताओं ने कहा कि यह उनकी पोस्ट को लोकप्रिय बनाने का एक तरीका था। उसे अब आपकी परवाह नहीं है। कुछ उपयोगकर्ताओं ने इसे एक घोटाला कहा।

रचिन रवींद्र शामिल
रुतुराज गायकवाड़ के टॉस जीतते ही मैदान में शोर मच गया। गायकवाड़ ने कहा-हम पहले गेंदबाजी करेंगे। ईमानदारी से कहें तो यह एक अच्छा विकेट लग रहा है। यह लक्ष्य का पीछा करने का मैदान रहा है। यह काफी हद तक चेन्नई जैसा मैदान है। चेन्नई सुपरकिंग्स ने ग्लीसन की जगह रचिन रवींद्र को टीम में शामिल किया है। गुजरात टाइटंस ने कार्तिक त्यागी को अपनी टीम में शामिल किया है। वह डेब्यू कर रहे हैं।

गुजरात टाइटंस की प्लेइंग इलेवनः शुभमन गिल (कप्तान), डेविड मिलर, मैथ्यू वेड (विकेटकीपर), साई सुदर्शन, शाहरुख खान, राहुल तेवतिया, राशिद खान, नूर अहमद, उमेश यादव, मोहित शर्मा और कार्तिक त्यागी।

यह भी पढ़ेंः गौतम गंभीर के सामने भावुक हुए KKR प्रशंसक, कहा-हमें मत छोड़ो

चेन्नई सुपरकिंग्स प्लेइंग इलेवनः ऋतुराज गायकवाड़ (कप्तान), रचिन रवींद्र, मोइन अली, रवींद्र जडेजा, डेरिल मिशेल, शिवम दुबे, एमएस धोनी (विकेटकीपर), मिशेल सेंटनर, शार्दुल ठाकुर, तुषार देशपांडे, सिमरजीत सिंह।