रोहित शर्मा ने की बड़ी गलती, सरफराज खान कोशिश करते रहे लेकिन फिर भी कप्तान नहीं माने

0
14
Rohit Sharma Sarfaraz Khan
AsportsN। Image Credit: Social Media

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का पांचवां मुकाबला धर्मशाला में खेला जा रहा है। इस मैच में इंग्लैंड की टीम पहले खेलने आई और उसकी शुरुआत भी अच्छी रही। लेकिन जैसे ही कुलदीप यादव ने दो विकेट लिए, इंग्लैंड के बल्लेबाजों को हार का सामना करना पड़ा। लंच तक इंग्लैंड का स्कोर 2 विकेट के नुकसान पर 100 रन था। भारत को लंच के बाद तीसरा विकेट मिल सकता था लेकिन रोहित शर्मा ने बड़ी गलती की। सरफराज खान वास्तव में मैदान के बीच में रोहित शर्मा को समझाते रहे लेकिन कप्तान ने उनकी बात बिल्कुल नहीं सुनी।

क्या था पूरा मामला?

दरअसल कुछ ऐसा हुआ कि 27वें ओवर में जसप्रीत बुमराह गेंदबाजी कर रहे थे और जो रूट उनके सामने थे। जो रूट ने पहली गेंद का बचाव किया और शॉर्ट लेग के करीब क्षेत्ररक्षण करते हुए सरफराज खान के हाथों कैच आउट हो गए। उन्हें पूरा यकीन था कि गेंद उनके बल्ले से टकरा गई थी। इसलिए वह कप्तान रोहित शर्मा को डीआरएस लेने के लिए मनाते रहे। लेकिन कप्तान ने उनकी बात नहीं सुनी।

जब टाइमर रुका और अल्ट्रा एज दिखाया गया, तो यह दिखाया गया कि रूट का बल्ला मारा गया था। इसके बाद रोहित शर्मा को निराशा व्यक्त करते देखा गया। अगर रोहित ने यहां डीआरएस लिया होता तो यह भारत के पक्ष में जाता। यहाँ से भारत को तीसरी सफलता मिल सकती थी। लेकिन रोहित ने डीआरएस नहीं लिया और सरफराज खान, जो रोहित को समझाने की कोशिश कर रहे थे, भी निराश दिखे।

इंग्लैंड के लिए विश्वसनीयता की लड़ाई

इस मैच की बात करें तो भारतीय टीम पहले ही सीरीज जीत चुकी है। टीम इंडिया ने रांची टेस्ट जीतकर सीरीज में 3-1 की अजेय बढ़त बना ली है। अब भारत धर्मशाला में श्रृंखला 4-1 से जीतना चाहेगा। वहीं, हैदराबाद टेस्ट में जीत के बाद जीत के लिए तरस रही इंग्लिश टीम यहां अपनी क्लीन शीट बचाने के लिए सीरीज 3-2 से खत्म करना चाहेगी। धर्मशाला टेस्ट में बेन स्टोक्स ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। क्रॉली और डकेट ने 64 रनों की शुरुआती साझेदारी की। लेकिन यहां इंग्लैंड की टीम को एक अलग शैली में खेलते हुए देखा गया और बेसबॉल कुछ शांत दिखाई दिया।

Radhika Sharma
मैंराधिका शर्मा पिछले 6 साल से जर्नलिज्म की दुनिया से जुड़ी हूं, खासकर डिजिटल जर्नलिज्म से... ऑनलाइन कंटेंट, CMS-SEO के कंसेप्ट की अच्छी नॉलेज रखती हूं। अब तक के करियर में मैंने प्रोफेशनली और पर्सनली बहुत कुछ सीखा है। हर बीट से जुड़े कंटेट पर काम किया है। Asportsn में आने से पहले मैं दैनिक भास्कर और अमर उजाला के डिजिटल विंग में सेवाएं दे चुकी हूं और आगे भी सफर जारी है, जारी रहेगा...