रविचंद्रन अश्विन ने राजकोट टेस्ट से अचानक नाम वापस ले लिया, टीम इंडिया को लगा बड़ा झटका

0
26
Ravichandran Ashwin
AsportsN। Image Credit: Social Media

भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ राजकोट में खेले जा रहे टेस्ट में बड़ा झटका लगा है। टेस्ट मैच के दूसरे दिन 500 टेस्ट विकेट लेकर इतिहास रचने वाले रविचंद्रन अश्विन ने राजकोट टेस्ट के बीच में ही अपना नाम वापस ले लिया। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, यह पता चला है कि अश्विन ने यह निर्णय मेडिकल इमरजेंसी के कारण लिया है। क्रिकबज ने सबसे पहले यह जानकारी दी है। ऐसे में दूसरे दिन के अंत तक ड्राइविंग सीट पर बैठा इंग्लैंड अब टीम इंडिया के लिए बड़ी समस्या बन गया है।

अश्विन पूरी सीरीज से बाहर

इसके बाद बीसीसीआई ने एक प्रेस विज्ञप्ति भी जारी की और रविचंद्रन अश्विन के बारे में पूरी जानकारी दी। दुर्भाग्य से अश्विन अब पूरी श्रृंखला से बाहर हो गए हैं। उन्होंने पारिवारिक आपातकाल के कारण अचानक ऐसा निर्णय लिया है। बीसीसीआई ने सभी से उनके पारिवारिक मामलों में गोपनीयता बनाए रखने और कठिन समय में क्रिकेटर का समर्थन करने के लिए कहा। कुछ बड़ी समस्या जरूर होगी, यही वजह है कि अश्विन ने अचानक बाहर होने का फैसला किया है।

टीम इंडिया एक कम गेंदबाज के साथ खेलेगी

दुर्भाग्य से, भारतीय टीम को अब पूरे टेस्ट के शेष 3 दिनों के लिए केवल 4 गेंदबाजों के साथ खेलना होगा। दूसरे दिन भी अश्विन ने जैक क्रॉली के रूप में भारत को पहली सफलता दिलाई। अब यह देखा जाना बाकी है कि टीम इंडिया के साथ क्या होता है और वह अश्विन को कितना याद करती है। ऐसे में रवींद्र जडेजा और कुलदीप यादव पर अधिक जिम्मेदारी पड़ेगी, जो अब तक महंगे साबित हुए हैं। यह जिम्मेदारी भी सिराज के कंधों पर होगी, जिन्होंने दूसरे दिन जसप्रीत बुमराह और ओली पोप का विकेट लिया।

टीम इंडिया के लिए संकट का समय

यह भारतीय टीम के लिए बड़े संकट का समय है। इससे पहले विराट कोहली पूरी सीरीज से बाहर थे। जबकि मोहम्मद शमी जैसे सीनियर खिलाड़ी पहले से ही टीम के साथ नहीं हैं। केएल राहुल की फिटनेस पर सस्पेंस बना हुआ है। यहां से रांची टेस्ट जो 23 फरवरी से शुरू होना है। यह देखना बहुत दिलचस्प हो गया है कि इसमें कौन खेलेगा। हालांकि अक्षर पटेल इस मैच में नहीं खेल रहे हैं, लेकिन रांची में उनकी वापसी निश्चित मानी जा सकती है। वॉशिंगटन सुंदर भी इस स्थान के प्रबल दावेदार हो सकते हैं क्योंकि अश्विन के जाने से टीम इंडिया को न केवल गेंदबाजी की कमी खलेगी बल्कि एक ऐसे बल्लेबाज की भी कमी खलेगी जो अंत में कम से कम 30-40 रन बना सकता है।