मैच के दौरान थाला के साथ धोखाधड़ी हुई? धोनी बोलते रहे, अंपायर ने नहीं सुनी

0
1190

आईपीएल 2024 के 49वें मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के साथ धोखाधड़ी को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं। यह धोखाधड़ी किसी और के साथ नहीं हुई है, बल्कि चेन्नई के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ हुई है, जो खुद एक बहुत ही अनुभवी खिलाड़ी हैं। इसे लेकर सोशल मीडिया पर चर्चा शुरू हो गई है। मैच में पंजाब ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। इस दौरान जब सीएसके पहले बल्लेबाजी कर रही थी और महेंद्र सिंह धोनी बल्लेबाजी करने के लिए मैदान पर आए थे, इसी दौरान माही के साथ धोखाधड़ी की खबर आ रही है। आइए आपको बताते हैं कि पूरा मामला क्या है।

आज फिर माही ने अपनी ताकत दिखाई

आज फिर से महेंद्र सिंह धोनी के बल्ले से कुछ अच्छे शॉट देखे गए। भले ही वह आखिरी गेंद पर रन आउट हो गए थे, लेकिन आज भी धोनी के बल्ले से छक्के और चौके देखे जा सकते हैं। माही ने इस मैच में 11 गेंदों में 14 रनों की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने एक चौका और एक छक्का भी लगाया। जब धोनी आखिरी ओवर में बल्लेबाजी कर रहे थे तो अर्शदीप सिंह गेंदबाजी करने आए थे। ओवर की चौथी गेंद पर धोनी स्ट्राइक पर थे। दोनों में से किसी भी टीम के पास कोई समीक्षा नहीं बची थी। अर्शदीप इस ओवर में पहले ही 2 वाइड दे चुके थे। जब अर्शदीप ने चौथी गेंद फेंकी तो वह धोनी के सिर के ऊपर से चली गई।

यह है पूरा मामला

महेंद्र सिंह धोनी ने ऑन-फील्ड अंपायर से वाइड मांगा, लेकिन अंपायर ने वाइड नहीं दिया। इसके बाद धोनी नॉन-स्ट्राइक छोर पर बल्लेबाजी कर रहे मिशेल मार्श से पूछने गए कि गेंद चौड़ी है या नहीं। धोनी ने मिशेल को यह भी संकेत दिया कि गेंद उनके सिर के ऊपर से चली गई थी, लेकिन धोनी द्वारा बार-बार अंपायर से वाइड के लिए कहने के बाद भी अंपायर ने अपना निर्णय नहीं बदला। समीक्षा की कमी के कारण माही भी काफी असहाय लग रहे थे। इस वजह से धोनी के साथ-साथ उनके करोड़ों फैंस भी नाराज़ हो गए। इस बारे में सोशल मीडिया पर चर्चा हो रही है कि धोनी को धोखा दिया गया है।