news

जब दादा ने एक युवा टीम के साथ इंग्लैंड का गौरव तोड़ा, तो कुछ इस तरह मनाया

भारतीय क्रिकेट के सबसे सफल कप्तानों में से एक सौरव गांगुली आज अपना 52वां जन्मदिन मना रहे हैं। गांगुली ने अपनी कप्तानी में कई युवा खिलाड़ियों को मौका दिया। उन्होंने युवा खिलाड़ियों के साथ मिलकर भारत की एक ऐसी टीम बनाई जिसने देश और विदेश दोनों में सफलता का झंडा फहराया। आज दादा के जन्मदिन के अवसर पर हम आपको नेटवेस्ट सीरीज 2022 के फाइनल की कहानी बताएंगे जिसमें गांगुली की कप्तानी में भारत ने अपने घर में इंग्लैंड का गौरव तोड़ा था। खिताब जीतने के बाद दादा ने लॉर्ड्स की बालकनी में जर्सी उतारकर जश्न मनाया था।

भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज जीती

भारतीय टीम की कप्तानी नैटवेस्ट सीरीज 2002 में सौरव गांगुली ने की थी। श्रृंखला का अंतिम मैच भारत और इंग्लैंड के बीच क्रिकेट के मक्का लॉर्ड्स में खेला गया था। इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट के नुकसान पर 325 रन बनाए। इंग्लैंड के कप्तान नासिर हुसैन ने 115 और ट्रेस्कोथिक ने 109 रन बनाए।

इंग्लैंड के इतने बड़े कुल को देखकर, मैच में उनकी बढ़त को भारी माना गया। भारत की शुरुआत खराब रही और उसने अपने पहले 5 विकेट 150 रन के अंदर गंवा दिए। सभी ने सोचा था कि भारत इस मैच को बुरी तरह से हार जाएगा। हालांकि, युवा बल्लेबाज मोहम्मद कैफ और युवराज सिंह थोड़े अलग रवैये के साथ बल्लेबाजी करने आए। इन दोनों ने भारतीय पारी की कमान संभाली और इंग्लैंड के गेंदबाजों के खिलाफ तेज गति से रन बनाने शुरू कर दिए। कैफ और युवराज ने छठे विकेट के लिए 121 रनों की साझेदारी की।

Zimbabwe vs India : जिम्बाब्वे सीरीज में 8 पास, 7 फेल, ये है टीम इंडिया का रिपोर्ट कार्ड

पिताजी ने अपनी जर्सी उतारकर जश्न मनाया।

हालाँकि, युवराज सिंह का विकेट मैच के अंतिम मोड़ पर 69 रन पर गिर गया, लेकिन मोहम्मद कैफ ने एक छोर पर कब्जा कर लिया। भारत ने यह मैच 3 गेंद शेष रहते 2 विकेट से जीत लिया। फाइनल में मोहम्मद कैफ ने 75 गेंदों में 6 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 87 रन बनाए। भारत की जीत के बाद ऐसा लगता है कि सौरव गांगुली अपना आपा खो चुके हैं। उन्होंने लॉर्ड्स की बालकनी में जर्सी उतारकर जश्न मनाया। वानखेड़े स्टेडियम में भारत की जीत के बाद सौरव ने एंड्रयू फ्लिंटॉफ को जवाब देते हुए अपनी शर्ट उतार दी।

Back to top button