news

सूर्यकुमार यादव रिंकू सिंह के खिलाफ एक्शन में।

टीम इंडिया के बल्लेबाज रिंकू सिंह ने भले ही टी20 विश्व कप नहीं खेला हो, लेकिन रविवार को जिम्बाब्वे के खिलाफ दूसरे टी20 मैच में जिस तरह से उन्होंने निडर होकर बल्लेबाजी की, उसने प्रशंसकों की भौहें उठा दीं। हरारे में खेले गए मैच में रिंकू ने 228.88 के स्ट्राइक रेट से 22 गेंदों में 2 चौकों-5 छक्कों की मदद से नाबाद 48 रन बनाए। रिंकू ने इस दौरान कई गगनचुंबी छक्के लगाए। उन्होंने स्टेडियम में 104 मीटर का छक्का भी लगाया। उनके साथ सूर्यकुमार यादव भी थे।

यह सब भगवान की योजना है।

सूर्य, जो घर पर मैच देख रहा था, रिंकू सिंह के तूफान को नहीं देख सका। उन्होंने सोशल मीडिया का सहारा लिया और रिंकू सिंह की बल्लेबाजी पर प्रतिक्रिया दी। मैच के दौरान सूर्या ने एक्स पर अपनी भावनाओं को व्यक्त किया। उन्होंने बहुत कम शब्दों में बहुत कुछ कहा। सूर्या ने लिखा, “यह सब भगवान की योजना है। दरअसल, रिंकू सिंह ‘गॉड्स प्लान’ डायलॉग के लिए बहुत प्रसिद्ध हैं। यह बात वह कई बार कह चुके हैं। पांच छक्के जड़ने वाले यश दयाल के शानदार वापसी करने और आईपीएल खिताब जीतने के बाद उन्होंने शाहरुख खान के सामने यही संवाद कहा।

क्या सूर्य ने संदेश दिया था?

इसका मतलब है कि भगवान ने इसे स्वीकार कर लिया है। सूर्या इसके माध्यम से कहीं न कहीं कहना चाहते हैं कि भले ही रिंकू को विश्व कप में खेलने का मौका नहीं मिला, लेकिन उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खुद को साबित किया है। विश्व कप में रिंकू सिंह की जगह शिवम दुबे को शामिल किया गया। रिंकू को रिजर्व में शामिल किया गया था। रोहित ने मैच से पहले संवाददाता सम्मेलन में कहा, “यह सबसे कठिन फैसलों में से एक था।

क्या गौतम गंभीर के कोच बनने के बाद यह दिग्गज खिलाड़ी टीम में शामिल होगा?

हरारे का सर्वोच्च स्कोर

भारत के लिए अभिषेक शर्मा, ऋतुराज गायकवाड़ और रिंकू शर्मा बल्ले से सितारे थे। भारत ने 20 ओवर में 2 विकेट पर 234 रन बनाए। इसमें अभिषेक शर्मा का 47 गेंदों में 7 चौकों और 8 छक्कों का शानदार शतक और रुतुराज गायकवाड़ का 47 गेंदों में नाबाद 77 रन शामिल हैं। आपको बता दें कि रिंकू सिंह पहले टी20 मैच में खाता खोले बिना आउट हो गए थे। इसके बाद से ही इस पर सवाल उठ रहे हैं। अब उन्होंने बल्ले से जवाब देकर साबित कर दिया है कि उन्हें फिनिशर क्यों कहा जाता है।

Back to top button