news

भारत के प्लेइंग-11 में हो सकता है बड़ा बदलाव! इस मैच का विजेता मैच में प्रवेश कर सकता है।

टी20 विश्व कप 2024 का चैंपियन बनने के बाद टीम इंडिया का पहला टी20 मैच जिम्बाब्वे के खिलाफ था, जिसमें टीम को शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा है। एक युवा स्टार-स्टडेड टीम ने जिम्बाब्वे की एक अनुभवी टीम के खिलाफ घुटने टेक दिए। भारतीय गेंदबाजों ने अच्छा काम किया लेकिन बल्लेबाज बुरी तरह विफल रहे। टीम के 7 बल्लेबाज दसवें अंक को भी नहीं छू सके और एक छोटे से लक्ष्य का पीछा करने के बावजूद टीम 13 रन से मैच हार गई। इस मैच के बाद सवाल उठ रहे हैं कि क्या आज शाम होने वाले दूसरे टी20 मैच में टीम के प्लेइंग 11 में बदलाव किया जा सकता है।

टीम में क्या बदलाव होगा?

पहले टी20 मैच में हार के बावजूद अगले मैच में टीम के प्लेइंग-11 को बदलना मुश्किल लगता है। हालांकि, पिच की स्थिति को देखते हुए, 1 और स्पिन गेंदबाज को मौका दिया जा सकता है। ऐसे में पिछले मैच में फेल हुए खलील अहमद को इस मैच में आराम दिया जा सकता है। टीम में ऐसे स्पिन गेंदबाज को शामिल किया जा सकता है जो बल्लेबाजी में भी अच्छा प्रदर्शन कर सकता है। खलील अहमद की जगह हर्षित राणा को मौका मिल सकता है।

उन्होंने पहले मैच में कैसा प्रदर्शन किया?

शुभमन गिल

भारत के कप्तान शुभमन गिल जिम्बाब्वे के खिलाफ शॉट खेलते हैं। गिल ने 29 गेंदों पर 31 रन बनाए। हालांकि अगर वह थोड़ा और लंबे समय तक खेलते तो मैच भारत के हाथों में दे सकते थे, लेकिन विपक्षी टीम के कप्तान सिकंदर रजा ने उन्हें चकमा दिया और उन्हें बोल्ड कर दिया।

सूर्यकुमार यादव रिंकू सिंह के खिलाफ एक्शन में।
अभिषेक शर्मा

अभिषेक शर्मा को आक्रामक बल्लेबाज माना जाता है। उन्होंने आईपीएल के कई मैच खेले हैं। उनके कोच युवराज सिंह हैं। अभिषेक शर्मा ने जिम्बाब्वे के खिलाफ पदार्पण किया और पहले ही मैच में वह अपना खाता खोले बिना आउट हो गए। अभिषेक ने भारत के लिए ओपनिंग करते हुए 4 गेंदें खेलीं और वह बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में आउट हो गए।

रुतुराज गायकवाड़

रुतुराज गायकवाड़, नं. 3, 9 गेंदों पर 7 रन बनाए। उन्होंने भारत के लिए 20 टी20 मैच खेले हैं। उनका स्ट्राइक रेट भी बेहतर रहा है लेकिन जिम्बाब्वे के खिलाफ पहले मैच में उनकी कमी पाई गई थी।

रियान पराग

रियान पराग ने भी इस मैच में भारत के लिए पदार्पण किया था। उन्होंने 3 गेंदों पर 2 रन बनाए।

रिंकू सिंह

भारत ने 22 रन के अंदर 3 विकेट गंवा दिए। ऐसी कठिन परिस्थिति में बल्लेबाजी करने आए रिंकू सिंह से बहुत उम्मीद थी कि वह टीम को जीत की दहलीज तक ले जाएंगे। लेकिन रिंकू सिंह ने भी अपना खाता खोले बिना अपना विकेट गंवा दिया।

ध्रुव जुरेल

भारत के विकेटकीपर-बल्लेबाज ध्रुव जुरेल को पहले टी20 में पदार्पण करने का मौका मिला। ध्रुव के अनुभव की कमी स्पष्ट थी और उन्होंने हड़बड़ी में अपना विकेट खो दिया। उन्होंने 6 गेंदों पर 14 रन बनाए।

वॉशिंगटन सुंदर

वॉशिंगटन सुंदर ने भारत के लिए 44 टी20 मैच खेले हैं। उन्होंने 127 की स्ट्राइक के साथ 134 रन बनाए हैं और 36 विकेट भी लिए हैं। वाशिंगटन सुंदर ने अपने अनुभव के आधार पर 34 गेंदों में 27 रन बनाए, लेकिन एक छोटा लक्ष्य होने के बावजूद, वह लंबे शॉट नहीं खेल सके और अंतिम 3 ओवरों में संघर्ष करने के बाद अपना विकेट भी खो दिया। हालांकि, वाशिंगटन ने गेंद के साथ भी अच्छा प्रदर्शन किया और 2 विकेट लिए।

दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजी कोच के नाम पर अंतिम फैसला लेगा बीसीसीआई
रवि बिश्नोई

रवि बिश्नोई ने मैच में स्पिनर के रूप में शानदार प्रदर्शन किया। बिश्नोई ने 4 ओवर में 2 मेडन फेंके और 13 रन देकर 4 विकेट लिए। रवि बिश्नोई ने भारत के लिए 25 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। यह उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था।

खलील अहमद

खलील अहमद इस मैच में तेज गेंदबाज के रूप में खेल रहे थे। खलील ने भारत के लिए 25 टी20 मैच खेले हैं। उन्होंने 13 विकेट लिए हैं लेकिन खलील जिम्बाब्वे के खिलाफ काफी महंगे साबित हुए। खलील ने 3 ओवर में 28 रन दिए और उन्हें कोई सफलता नहीं मिली।

अवेश खान

आवेश खान ने भारत के लिए 21 टी20 मैच खेले हैं। उन्होंने 20 विकेट लिए हैं। अवेश ने इस मैच में 12 गेंदों में 1 विकेट लेने के साथ 16 रन बनाए हैं। आवेश ने 3 चौके लगाकर मैच को मोड़ने की कोशिश की, लेकिन इस जल्दबाजी में उन्होंने अपना विकेट भी गंवा दिया। अगर आवेश खान और वाशिंगटन सुंदर थोड़े धैर्य के साथ खेलते तो भारतीय टीम जीत सकती थी।

मुकेश कुमार

मुकेश कुमार ने मैच में अपनी गेंदबाजी से गहरा प्रभाव डाला। मुकेश ने 3 ओवर में 16 रन देकर 1 विकेट लिया।

Back to top button